पौड़ी पुलिस ने छात्राओं को पढ़ाया जागरूकता का पाठ,स्वयं की रक्षा करने हेतु छात्राओं को दिया गया प्रशिक्षण,,,।

पौड़ी पुलिस ने छात्राओं को पढ़ाया जागरूकता का पाठ,स्वयं की रक्षा करने हेतु छात्राओं को दिया गया प्रशिक्षण,,,।
Spread the love

स्वयं की रक्षा करने हेतु छात्राओं को दिया गया Self Defence Training/UAC (Un Armed Combat) का प्रशिक्षण

पौड़ी गढ़वाल *** वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी गढ़वाल श्रीमती श्वेता चौबे के निर्देशन में जनपद के समस्त थानों की महिला हेल्प डेस्क प्रभारियों/महिला हेल्प डेस्क पर नियुक्त महिला कर्मियों की महिला थाना श्रीनगर में 02 दिवसीय Training Of Trainers (TOT) कार्यशाला का आयोजन किया गया था । कार्यशाला के उपरान्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रशिक्षित महिला पुलिस कर्मियों को Training Of Trainers (TOT) के रूप में अपने-अपने थाना क्षेत्र के पड़ने वाले समस्त शिक्षण संस्थानों में जाकर वहाँ अध्ययन करने वाली छात्राओं को आत्म रक्षा हेतु प्रशिक्षण देने हेतु निर्गत निर्देशों के क्रम में “PINK UNIT” कोतवाली श्रीनगर एवं महिला थाना श्रीनगर द्वारा भगवती मेमोरियल स्कूल श्रीकोट एवं राजकीय इण्टर कॉलेज देखल्यो श्रीनगर में जाकर छात्राओं को जागरूक करते हुये Self Defence Training/UAC (Un Armed Combat) का प्रशिक्षण दिया गयाः-

(I) पोक्सो एक्ट/Legal Rights के बारे में जानकारी दी गयी, जिससे स्कूली छात्राओं में सुरक्षा की भावना जागृत होगी एवं विपरीत परिस्थितियों में बहादुरी से सामना करने में सहायक होगी।
(II) असामाजिक तत्वों द्वारा सोशल साइट्स का गलत इस्तेमाल करते हुये छात्राओं के साथ फेक आईडी बनाकर ब्लैकमेल जैसी घटनाये की जाती है इस प्रकार की घटनाओं से बचने के लिये छात्राओं को साईबर सेफ के बारे में जानकारी दी गयी।
(III) विपरीत परिस्थितियों में स्वयं की रक्षा करने हेतु Self Defence Training/UAC (Un Armed Combat) का प्रशिक्षण प्राप्त महिला पुलिस कर्मियों द्वारा छात्राओं में आत्मविश्वास एवं सुरक्षा की भावना जागृत करने हेतु पंच बांधना, शरीर की कमजोर कड़ी पर वार करना, किसी की पकड़ से खुद को छुड़ाने के साथ पैरों से वार करना आदि की तकनीक बतायी गयी।
(IV) स्कूली छात्राओं को गुड टच बेड टच का अन्तर समझाते हुये संवेदनशील बिन्दुओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ दी गयी। साथ ही महिला हेल्पलाइन, गौरा शक्ति एप, उत्तराखण्ड पुलिस एप, महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों, मानव तस्करी व आपातकालीन नम्बर डायल-112 बारे में जानकारी दी गयी एवं अपने साथ होने वाले किसी भी प्रकार के अपराध की सूचना तत्काल अपने परिजनों और पुलिस को देने हेतु प्रेरित किया गया।
पुलिस टीमः-
• महिला उपनिरीक्षक प्रवीणा सिदोला
• महिला आरक्षी बबीता
• महिला आरक्षी अनीता

K3 India

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.